सहज हस्त मुद्रा को करने से शरीर का रुखापन समाप्त हो जाता है।

सहज हस्त मुद्रा

सहज हस्त मुद्रा बहुत ही सरल है। हस्त-मुद्रा-चिकित्सा के अनुसार हाथ तथा हाथों की अँगुलियों और अँगुलियों से बनने वाली मुद्राओं में आरोग्य का राज छिपा हुआ है । हाथ की अँगुलियों में पंचतत्त्व प्रतिष्ठित हैं । ऋषि-मुनियों ने हजारों साल पहले इसकी खोज कर ली थी एवं इसे उपयोग में बराबर प्रतिदिन लाते रहे, … Read more

मेमोरी पावर को मजबूत बनाना चाहते हैं तो ये करें

मेमोरी पावर (Easy ways to exercise the powers of the brain) मेमोरी पावर यदि कमजोर है तो क्या आपके साथ भी एसा होता है के आप अकसर घर छोड़ने से पहले क्या लाइट बंद करना भूल जाते हैं? क्या आप यह भूल जाते हैं कि आपने अपनी कार की चाबियां कहां रखी हैं ? क्या … Read more

छींक आना:- क्या आप भी रोज़ रोज़ छींकने की समस्या से परेशान हैं तो करें ये उपाय

छींक आना  क्या एक बीमारी है ? Sneeze What is a disease ? छींक आना लगभग सभी देशों में एक जैसा होता है दरअसल छींक आना हमारे शरीर की एक स्वाभाविक प्रकिया है आपने देखा होगा का सभी मनुष्यों की छिकने की  आवाजें अलग–अलग होती हैं और इसे कहते हैं “स्नीज आनोमैटोपाइया” जिसका सरल सा मतलब है, “छींकने में … Read more

मुद्रा से आरोग्य एवं आध्यात्मिक लाभ

मुद्रा से आरोग्य एवं आध्यात्मिक लाभ मुद्रा:- हस्त मुद्रा को लेकर सभी जन मानस में अलग अलग तरह की अवधारणा है कोई सोचता है की ये मुश्किल है कोई सोचता है की इनका करने से क्या फायदा होगा और किसी किसी का तो ये मत भी है की ये सिर्फ योगी ऋषि मुनियों के लिए … Read more

नभो मुद्रा – मुद्रा से आरोग्य एवं आध्यात्मिक लाभ

नभो मुद्रा (दूसरी मुद्रा)  नभो मुद्रा के द्वारा बहुत से रोगों को समाप्त किया जा सकता है। नभ का मतलब होता है `आकाश´ और नभोमुद्रा का काम है जीभ को तालु की ओर लगाना। नभो मुद्रा करना कोई आसान काम नहीं है। यह एक बहुत ही रहस्यात्मक अभ्यास है।  पूरे शरीर को सिर से ऊर्जा … Read more

खेचरी मुद्रा – मुद्रा से आरोग्य एवं आध्यात्मिक लाभ

खेचरी मुद्रा :- सारे रोगों का नाश करने वाली रहस्यमयी मुद्राओं का खुलासा खेचरी मुद्रा हठयोग के अन्तर्गत वर्णित हैं। मुद्राओं का तत्काल और सूक्ष्म प्रभाव शरीर की आंतरिक ग्रन्थियों पर पड़ता है। इन मुद्राओं के माध्यम से शरीर के अवयवों तथा उनकी क्रियाओं को प्रभावित, नियन्त्रित किया जा सकता है। विलक्षण चमत्कारी फायदा पहुचाने वाली … Read more

विपरीतकरणी मुद्रा से आरोग्य एवं आध्यात्मिक लाभ

विपरीतकरणी मुद्रा (VIPRITKARANI MUDRA) विपरीतकरणी मुद्रा में पैर उपर एवं सिर नीचे अर्थात शरीर की विपरीत स्थिति होने से इसे विपरीतकरणी मुद्रा कहते हैं |इस मुद्रा को सर्वांगासन की पूर्व स्थिति भी कहा जाता है | अथ विपरीतकरणीमुद्राकथनम्। नाभिमूलेवसेत्सूर्यस्तालुमूले च चन्द्रमाः। अमृतं ग्रसते मृत्युस्ततो मृत्युवशो नरः ॥३३॥ ऊर्ध्वं च जायते सूर्यश्चन्द्रं च अध आनयेत्। विपरीतकरीमुद्रा … Read more

अश्विनी मुद्रा से आरोग्य एवं आध्यात्मिक लाभ

अश्विनी मुद्रा ( ASHWANI MUDRA) अश्विनी मुद्रा का अर्थ है “अश्व यानि घोड़े की तरह करना”. घोडा अपने गुदा द्वार को खोलता बंद करता रहता है और इसी से अपने भीतर अन्य सभी प्राणियों से अधिक शक्ति उत्पन्न करता है अथ अश्वनीमुद्राकथनम्। आकुञ्चयेद्गुदद्वारं प्रकाशयेत् पुनः पुनः। सा भवेदश्विनी मुद्रा शक्तिप्रबोधकारिणी ॥८२॥ अश्विनीमुद्रायाः फलकथनम्। अश्विनी परमा … Read more

स्लिप डिस्क होने के कारण और आयुर्वेदिक उपचार

स्लिप डिस्क/Slip Disc/backpain क्या है ? स्लिप डिस्क आज की भागती दौड़ती दुनिया में एक भयानक बीमारी के रूप ले चुकी है एक अनुमान के अनुसार 10 प्रतिशत की आबादी कमर दर्द का शिकार है। दु:ख की बात यह है कि यह समस्या जीवन के उस पड़ाव में होती है जो प्रोडक्टिव होते हैं यानि … Read more