Search

1 दिन में 50,000 प्लेटलेट्स (platelets) बढाने के आसान घरेलू उपाय

loading...

आजकल डेंगू का कहर बढ़ता जा रहा है शायद ही कोई ऐसा घर होगा जहाँ डेंगू ने आक्रमण न किया हो और डॉक्टर के पास इसका कोई इलाज नहीं है वो सिर्फ ग्लूकोस की बोतल चदा देते हैं और साथ में कोई antibiotics injection और उसके साथ एसिडिटी (Acidity ) का इंजेक्शन लगा रहे हैं और जब रोगी की हालत बिगाड़ जत्ती है तो अचानक अपने हाथ खड़े केर देते हैं और उनको दूसरा हॉस्पिटल में ले जाने का दबाव बनाते हैं

डेंगू में जो में देखने में आ रहा है वो है प्लेटलेट्स (platelets) जो लगातार कम होने से समस्या गंभीर रूप ले लेती है  सामान्यतः एक स्वस्थ व्यक्ति के शरीर में 1.5 लाख से 4.5 लाख / cumm प्लेटलेट्स होते हैं।

loading...

सामान्य प्लेटलेट्स (platelets) की उम्र 3 से 5 दिन  होती हैं। शरीर में हर रोज हजारों प्लेटलेट्स (platelets) के टूटने और निर्माण होने की प्रक्रिया सामान्यतः चलती रहती हैं। प्लेटलेट की संख्या 1.5 लाख से कम होने पर उसे प्लेटलेट्स (platelets) की कमी या Thrombocytopenia कहा जाता हैं।

प्लेटलेट की संख्या 50  हजार से कम होने पर रोगी के जान को खतरा हो सकता हैं और ऐसे में रोगी को प्लेटलेट चढ़ाना (Platelet Transfusion) बेहद जरुरी हो जाता हैं। लेकिन देखने में आया है की यदि आपके प्लेटलेट्स (platelets) 15 हजार भी है तो डॉक्टर प्लेटलेट्स (platelets) चढ़ा कर रोगी को बचा लेते हैं लेकिन यदि इनकी संख्या 50 हज़ार के करीब है तो घबराने  की कोई बात नहीं है

जब कभी हमें कोई चोट लगती है और कही से रक्तस्त्राव या Bleeding होना शुरू हो जाता है तब इस रक्तस्त्राव को रोकने का महत्वपूर्ण कार्य प्लेटलेट द्वारा किया जाता हैं। प्लेटलेट्स (platelets) की संख्या बेहद कम हो जाने पर रोगी को बाह्य या अंधरुनि रक्तस्त्राव शुरू हो सकता है जैसे की नाक या दांत से खून निकलना, पेशाब में खून आना, चमड़ी के निचे लाल थक्के जमना इत्यादि। ऐसे लक्षण नजर आने पर रोगी को तुरंत उपचार करना जरुरी होता हैं।

1 दिन में 50,000 प्लेटलेट्स (platelets) बढ़ाने के लिए क्या करे ?
How to increase Platelet count in Dengue in Hindi

शरीर में कम हुए प्लेटलेट्स (platelets) की संख्या को बढ़ाने के लिए रोगी को निचे दिए हुए आहार देना चाहिए :

  • पपीता / Papaya : प्लेटलेट्स (platelets) की संख्या बढ़ाने के लिए पपीते का फल और पत्तों का प्रयोग सफलतापूर्वक किया जा सकता हैं। 2009 में मलेशिया में हुए एक अध्ययन में यह निष्कर्ष निकला है की डेंगू बुखार में ताजे और स्वच्छ पपीते के पत्तों का ताजा रस देने पर प्लेटलेट काउंट बढ़ाने में सहायता होती हैं। पपीते के पत्ते का रस आप अपनी क्षमतानुसार 10 से 20 ml दिन में 2 से 3 बार ले सकते हैं। अगर इसे पिने से उलटी होती है तो यह नहीं लेना चाहिए। पपीते का फल खाते समय वह पका हुआ होना चाहिए।
  • गेहुज्वारा / Wheatgrass : प्लेटलेट्स (platelets) काउंट बढ़ाने के लिए आप गेहू के घास का उपयोग भी कर सकते हैं। 150 ml स्वच्छ और ताजे गेहू के घास का जूस पिने से केवल प्लेटलेट ही नहीं बल्कि हीमोग्लोबिन, सफ़ेद रक्त पेशी और रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने में भी सहायता होती हैं।
  • चुकंदर / Beetroot : चुकंदर में प्रचुर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट होते है और साथ में इसका सेवन करने से हीमोग्लोबिन और प्लेटलेट की मात्रा बढ़ाने में सहायता होती हैं। आप रोगी को इसकी स्वादिष्ट और पाचक सब्जी बनाकर खिला सकते है या फिर इसका 10 ml ताजा जूस रोगी को दिन में 3 बार पिला सकते हैं।
  • कद्दू / Pumpkin : कद्दू में प्रचुर मात्रा में विटामिन K होता हैं। प्लेटलेट की तरह विटामिन K भी शरीर में रक्तस्त्राव होने पर खून को ज़माने (Clotting) का काम करता हैं। आप रोगी को इसकी स्वादिष्ट सब्जी बनाकर दे सकते है फिर रोगी को रोजाना 150 ml कद्दू का ताजा जूस 1 चमच्च शहद मिलाकर पिला सकते हैं।
  • गिलोय / Giloy : गिलोय का रस प्लेटलेट्स (platelets) बढ़ाने में बहुत एहम रोल अदा करता है इसे लेने का तरीका बहुत आसान है 10″ की गिलोय बेल के टुकड़ा तोड़ कर उसे 1.50 से 2 लीटर पानी में उबाले और उसमे 5-7 तुलसी के पत्ते थोडा सा अदरक (1 टोफ्फी जितना) और 2 चुटकी अजवायन डाल कर तब तक उबाले जब तक वो आधा न रह जाये उसके बाद उसे ठंडा कर के या थोडा गुनगुना कर के रोगी को खली पेट देने से चमत्कारी लाभ मिलते हैं गिलोय का रस लेने के 30 मिनट तक रोगी को कुछ भी न दें
  • कीवी / Kiwi : कीवी फल में प्रचुर मात्रा में विटामिन C, E और पोलीफेनोल होता हैं। रोजाना एक कीवी फल सुबह और शाम खाने से प्लेटलेट पेशी की संख्या तेजी से बढ़ना शुरू होती हैं। कीवी फल खाने से कोलेस्ट्रॉल भी नियंत्रित होता हैं।
  • अनार / Pomegranate : अनार एक बेहद पौष्टिक फल हैं। इसमें लोह तत्व / Iron प्रचुर मात्रा में होने से यह हीमोग्लोबिन और प्लेटलेट की मात्रा बढ़ाने में मदद करता हैं। आप रोगी को अनार के दाने निकालकर खिला सकते हैं। इसे खाने से गैस भी नहीं बनता और रोगी का पाचन भी सुधरता हैं। अगर अनार का जूस देना है तो इसे घर पर ही तैयार कर देना चाहिए।
  • विटामिन C : विटामिन K की तरह प्लेटलेट्स (platelets) की संख्या बढ़ाने के लिए शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन C मिलना भी बेहद जरुरी होता हैं। शरीर को पर्याप्त मात्रा में विटामिन C मिलने के लिए आहार में निम्बू, टमाटर, कीवी, संतरा, पालक और ब्रोकोली जैसे आहार पदार्थों का समावेश कर सकते हैं। आप चाहे तो डॉक्टर की सलाह से विटामिन C की गोली भी चूस सकते हैं।
  • पानी / Water : हमारे शरीर में पानी का बड़ा महत्त्व है। शरीर में रक्त पेशी निर्माण होने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी होना जरुरी हैं। रोगी व्यक्ति को रोजाना 8 से 10 ग्लास पानी अवश्य पीना चाहिए। डेंगू में शरीर में पानी की कमी होना बहुत बड़ी समस्या होती हैं।
  • अन्य उपयोगी सलाह / Other Important Advice 
  1. प्लेटलेट्स (platelets) की संख्या कम होने पर पेट की अंदर की त्वचा लाल हो जाती है जिससे एसिडिटी और गैस की समस्या बढ़ जाती हैं। ऐसे हालात में रोगी को कच्चा, भारी, तीखा और मसालेदार आहार नहीं देना चाहिए।
  2. रोगी को चाय, कॉफी, शराब और धूम्रपान से दूर रहना चाहिए।
  3. रोगी को एक साथ अधिक आहार देने की जगह थोड़ा-थोड़ा आहार हर20-30 मिनट में देते रहना चाहिए।
  4. प्लेटलेट्स (platelets) कम होने पर बिना डॉक्टर की सलाह से कोई भारी दवा या चूर्ण लेने से हानि हो सकती हैं। बिना डॉक्टर की सलाह लिए रोगी को कोई दवा नहीं देना चाहिए।
  5. प्लेटलेट्स (platelets)की संख्या बेहद कम होने पर ब्रश करते समय दांतों को जोर से नहीं घिसना चाहिए।
  6. रोगी को बिना डॉक्टर की सलाह से कोई भी भोजन, नुस्खा या दवा नहीं देना चाहिए।
  7. रोगी को नाक या दांत से खून आना, पेशाब में खून आना, आँखे लाल होना, शरीर पर लाल चकते आना, उलटी में खून आना या सांस लेने में तकलीफ होना जैसे कोई लक्षण नजर आने पर इसकी जानकारी तुरंत डॉक्टर को देना चाहिए।
  8. रोगी को ठन्डे पानी से बिल्कुल भी नहीं नहाना चाहिये यदि नहाने का मन हो तो थोडा गरम पानी ले कर उसमे नाहा सकते हैं उसके बाद रोगी को हवा से बचा कर रखें
  9. पैकेट बंद किसी भी तरह का जूस या टला हुआ कुछ भी न खाने दें
  10. यदि रोगी तुलसी का पत्ते और पुदीना की पत्ती मुह में रख ले तो मुह का सवाद बिगड़े बिना वो जल्दी स्वस्थ हो सकता है
  11. छोटी ilachi के बीज मुह में रखे और चूसते रहे ये भी प्लेटलेट्स (platelets) की संख्या को maintain रखते हैं और घटने नहीं देते
शरीर को पौष्टिक आहार मिलने पर हमारा शरीर ही इस काबिल होता है की वह बड़े से बड़े संक्रमण से लड़ सकता हैं। रोगी को उचित पोषण के साथ रोगी की परिवार और दोस्तों से घबराने की जगह रोगी को हिम्मत देना भी बेहद जरुरी हैं। सकारात्मकता या Positive energy भी रोगी को जल्द ठीक करने के लिए जरुरी हैं।
विशेष :- जो भी रोगी की देखभाल कर रहा है वो रोगी को हिम्मत देता रहे और हर 30 मिनट में लिक्विड में जरुर कुछ दे और कुछ ना मिले तो सादा पानी भी दे सकते हैं , नींबू पानी, तुलसी को उबाल कर उसका पानी, ताजे फल का रस अनार, कीवी, संतरा, नारियल पानी आंवला पालक का सूप , अदरक, प्याज़, लह्सुन का रस भी 1 चम्मच दे सकते हैं . उपर लिखे बत्तों में से यदि ३-४ बातों पर भी आप अमल कर लेते हैं तो रोगी 1 दिन में 50 हज़ार से भी ज्यादा प्लेटलेट्स (platelets) बड़ा सकता है
अगर आपको यह जानकारी  उपयोगी लगती  है तो कृपया इस लेख को अपने मित्रो सम्बन्धियों के साथ निचे दिए गए बटन दबाकर अपने Google plus, Facebook, Whatsapp या Tweeter account पर share जरुर करे ! आपकी एक कोशिश किसी की जान बचा सकती है
#डेंगू #प्लेटलेट्स(platelets) #platelets#पपीता #Dengue #Platelet #howto #increase #Hindi
Loading...

Related posts