Search

सर्दी या ठंड के मौसम में क्या आप भी स्वस्थ व निरोगी रहना चाहते हैं ?

सर्दी या ठंड के मौसम में क्या खाएं क्या न खाएं

सर्दी या ठंड के मौसम में क्या खाएं ये सवाल हर किसी के मन में उठता है कारण हर बार ठंड के मौसम में कुछ न कुछ बीमारी शरीर को घेर लेती है जिस कारण बहुत से दिक्कतों का सामना करना पड़ता है और यदि हम अपने खाने पीने को कण्ट्रोल या शक्तिदायक भोजन का सेवन करें तो अच्छे भोजन से पूरा साल शरीर को शक्ति मिलती हैं।

हम सर्दियों का भरपूर फायदा उठाये और ऐसे भोजन को अपने खाने में शामिल करे जिस के प्रभाव से नौजवान और 50 साल से ऊपर वाले वृद्ध लोग भी भरपूर जवानी का अनुभव करेंगे। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं वो भोजन जिनके खाने से बल, वीर्य, बुद्धि, मर्दाना ताक़त और पूरा साल जवानी का अनुभव होता रहता हैं। आइये जाने कौन से हैं ये भोजन।

loading...

आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसी ही चीजों के बारे में जानिए कुछ ऐसे ही खाने की चीजों के बारे में

1. बाजरा (Pearl millet) 

कुछ अनाज शरीर को सबसे ज्यादा गर्मी देते है। बाजरा एक ऐसा ही अनाज है। सर्दी के दिनों में बाजरे की रोटी बनाकर खाएं। छोटे बच्चों को बाजरा की रोटी जरूर खाना चाहिए। इसमें कई स्वास्थ्यवर्धक गुण भी होते है। दूसरे अनाजों की अपेक्षा बाजरा में सबसे ज्यादा प्रोटीन (Protein) की मात्रा होती है। इसमें वह सभी गुण होते हैं, जिससे स्वास्थ्य ठीक रहता है। ग्रामीण इलाकों में बाजरा से बनी रोटी व टिक्की को सबसे ज्यादा जाड़ो में पसंद किया जाता है। बाजरा में शरीर के लिए आवश्यक तत्व जैसे मैग्नीशियम (Magnesium) ,कैल्शियम (calcium) ,मैग्नीज (manganese) , ट्रिप्टोफेन (Triptofen) , फाइबर (fiber) , विटामिन- बी ( vitamin B) , एंटीऑक्सीडेंट (antioxidants) आदि भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।

Read More :- बाजरा (Pearl millet) के आयुर्वेदिक व औषधीय गुण

2. चना (Chickpea) 

रात को एक मुट्ठी चना पानी में भिगो दीजिये। सुबह चने निकाल कर इस पानी में एक चम्मच शहद मिला कर ये पानी पी लीजिये। और चने भी चबा चबा कर खा लीजिये। ये प्रयोग आप गर्मियों में भी निरंतर रख सकते हैं। चने के लिए कहावत हैं के “खाए चना रहे बना” यहाँ बना का अर्थ हैं “जवानी से भरपूर ”, अर्थात चने खाने वाला व्यक्ति हमेशा जवानी का अनुभव करता हैं।

Read More :- काला चना :- गरीबों का बादाम

बादाम (Almond) 

बादाम कई गुणों से भरपूर होते हैं। इसका नियमित सेवन अनेक बीमारियों से बचाव में मददगार है।अक्सर माना जाता है कि बादाम खाने से याददाश्त बढ़ती है, लेकिन यह ड्राय फ्रूट (Dry Fruits) अन्य कई रोगों से हमारी रक्षा भी करता है। इसके सेवन से कब्ज की समस्या दूर हो जाती है, जो सर्दियों में सबसे बड़ी दिक्कत होती है। बादाम में डायबिटीज को निंयत्रित करने का गुण होता है। इसमें विटामिन – ई (Vitamin E) भरपूर मात्रा में होता है।

Read More :- यह आयुर्वेदिक चूर्ण शरीर को बना देगा ताकतवर 

4. छुहारा (Raisins) 

नित्य 2 छुहारे या 5 पिंड खजूर दूध में उबाल कर नित्य रात को सोते समय खाए और दूध पी जाए। इस से शरीर हृष्ट पुष्ट होगा, मर्दाना ताक़त आएगी, और सर्दी से भी बचाव होगा। ये बच्चो को भी दे सकते हैं, इस से बच्चा बिस्तर में पेशाब नहीं करेगा और सर्दी खांसी जुकाम दमा और अन्य सर्दी के रोग कष्ट नहीं देंगे।

Read More :- छुहारे के आयुर्वेदिक और औषधीय गुण

5. अदरक (Ginger) 

क्या आप जानते हैं कि रोजाना के खाने में अदरक शामिल कर बहुत सी छोटी-बड़ी बीमारियों से बचा जा सकता है। सर्दियों में इसका किसी भी तरह से सेवन करने पर बहुत लाभ मिलता हैै। इससे शरीर को गर्मी मिलती है और डाइजेशन भी सही रहता है।

Read More :- अदरक (Ginger) के आयुर्वेदिक और औषधीय गुण

4. शहद (Honey)

शरीर को स्वस्थ, निरोग और उर्जावान बनाए रखने के लिए शहद को आयुर्वेद में अमृत भी कहा गया है। यूं तो सभी मौसमों में शहद का सेवन लाभकारी है, लेकिन सर्दियों में तो शहद का उपयोग विशेष लाभकारी होता है। इन दिनों में अपने भोजन में शहद को जरूर शामिल करें। इससे पाचन क्रिया में सुधार होगा और इम्यून सिस्टम पर भी असर पड़ेगा।

Read More :- शहद / Shahed / Honey के आयुर्वेदिक और औषधीय गुण

5. अंजीर और दूध (Figs and Milk) 

रात को 4 अंजीर पानी में भिगो दे। पानी उतना ही डाले जितना अंजीर सोख ले। प्रात : नाश्ते में ये अंजीर खा लीजिये और ऊपर से दूध पी लीजिये। आप इसको उड़द के साथ भी खा सकते हैं और अकेले भी। इसका प्रभाव ऐसा हैं के 60 साल से ऊपर वाले वृद्ध लोग भी जवानी का अनुभव करेंगे।

Read More :- पाचन संस्थान मजबूत करना है तो करें अंजीर के ये प्रयोग

See Also :- पुरुषों को ताकतवर बनाने के आयुर्वेदिक उपाय 

 

Loading...
loading...

Related posts