Search

शिव पूजा – जानिए किस अन्न के चढ़ावे से कैसी कामना पूरी

शिव पूजा :- Are You Interested To Fulfill

Your Dreams And Wish By Lord Shiva.

शिव पूजा :- इसी तरह भगवान शिव की प्रसन्नता से मनोरथ पूरे करने के लिए शिव पूजा में कई तरह के अनाज चढ़ाने का महत्व बताया गया है। इसलिए श्रद्धा और आस्था के साथ इस उपाय को भी करना न चूकें। जानिए किस अन्न के चढ़ावे से कैसी कामना पूरी होती है…

शिव पूजा में कौन से अन्न चढ़ाने से किस फल की प्राप्ति होती है ?

  1. शिव पूजा में गेहूं से बने व्यंजन चढ़ाने पर कुंटुब की वृद्धि होती है।
  2. मूंग से शिव पूजा करने पर हर सुख और ऐश्वर्य मिलता है।
  3. शिव पूजा में जौ अर्पित करने से सुख में वृद्धि होती है।
  4. चने की दाल अर्पित करने पर श्रेष्ठ जीवन साथी मिलता है।
  5. कच्चे चावल अर्पित करने पर कलह से मुक्ति और शांति मिलती है। भगवान शिव को चावल चढ़ाने से धन की प्राप्ति भी होती है।
  6. तिलों से शिवजी पूजा और हवन में एक लाख आहुतियां करने से हर पाप का अंत हो जाता है।
  7. उड़द चढ़ाने से ग्रहदोष और खासतौर पर शनि पीड़ा शांति होती है।

भगवान शिव के 12 ज्योर्तिलिंग देश के अलग-अलग हिस्सों में स्थित हैं. जिसे साक्षात शिवस्वरूप माना जाता है. शास्त्रों के मुताबिक हर दिन भगवान शिव 24 घंटे में एक बार शिवलिंग में स्थित होते हैं इसलिए शिव आराधना करने से विशेष लाभ मिलते हैं…

loading...

शिव की पूजा के बाद ‘ह्रीं ओम नमः शिवाय ह्रीं’ इस मंत्र का 108 बार जप करें. शहद, गु़ड़, गन्ने का रस, लाल पुष्प चढ़ाएं.

मल्लिकार्जुन का ध्यान करते हुए ‘ओम नमः शिवाय’ मंत्र का जप करें और कच्चे दूध, दही, श्वेत पुष्प चढ़ाएं.

महाकालेश्वर का ध्यान करते हुए ‘ओम नमो भगवते रूद्राय’ मंत्र का यथासंभव जप करें. हरे फलों का रस, मूंग, बेलपत्र आदि चढाएं.

शिव की कृपा प्राप्त करने के लिए ‘ओम हौं जूं सः’ मंत्र का जितना संभव हो जप करें और शिवलिंग पर कच्चा दूध, मक्खन, मूंग, बेलपत्र आदि चढाएं.

‘ओम त्र्यंबकं यजामहे सुगंधि पुष्टिवर्धनम, उर्वारूकमिव बन्ध्नान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्.’ इस मंत्र का कम से कम 51 बार जप करें. इसके साथ ही ज्योतिर्लिंग पर शहद, गु़ड़, शुद्ध घी, लाल पुष्प आदि चढाएं.

‘ओम नमो भगवते रूद्राय’ मंत्र का यथासंभव जप करें. हरे फलों का रस, बिल्वपत्र, मूंग, हरे व नीले पुष्प
शिव पंचाक्षरी मंत्र ‘ओम नमः शिवाय’ का 108 बार जप करें और दूध, दही, घी, मक्खन, मिश्री चढ़ाएं.

शिव पूजा में कौन से फूल चढ़ाने से किस फल की प्राप्ति होती है ?

  1. लाल व सफेद आंकड़े के फूल से भगवान शिव का पूजन करने पर मोक्ष की प्राप्ति होती है।
  2. चमेली के फूल से पूजन करने पर वाहन सुख मिलता है।
  3. अलसी के फूलों से शिव का पूजन करने पर मनुष्य भगवान विष्णु को प्रिय होता है।
  4. शमी वृक्ष के पत्तों से पूजन करने पर मोक्ष प्राप्त होता है।
  5. बेला के फूल से पूजन करने पर सुंदर व सुशील पत्नी मिलती है।
  6. जूही के फूल से भगवान शिव का पूजन करें तो घर में कभी अन्न की कमी नहीं होती।
  7. कनेर के फूलों से भगवान शिव का पूजन करने से नए वस्त्र मिलते हैं।
  8. हरसिंगार के फूलों से पूजन करने पर सुख-सम्पत्ति में वृद्धि होती है।
  9. धतूरे के फूल से पूजन करने पर भगवान शंकर सुयोग्य पुत्र प्रदान करते हैं, जो कुल का नाम रोशन करता है।
  10. लाल डंठलवाला धतूरा शिव पूजन में शुभ माना गया है।
  11. दूर्वा से भगवान शिव का पूजन करने पर आयु बढ़ती है।

शिव पूजा में किस से भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिये ?

हर तरह के दुखों से छुटकारा पाने के लिए भगवान शिव का जल से अभिषेक करें

क़र्ज़ से मुक्ति के लिए मसरी के दाल से अभिषेक करें

शिव को प्रसन्न कर उनका आशीर्वाद पाने के लिए दूध से अभिषेक करें

अखंड धन लाभ व हर तरह के कर्ज से मुक्ति के लिए भगवान शिव का फलों के रस से अभिषेक करें

ग्रहबाधा नाश और शत्रु पर विजय प्राप्ति  हेतु भगवान शिव का सरसों के तेल से अभिषेक करें

किसी भी शुभ कार्य के आरंभ होने व कार्य में उन्नति के लिए भगवान शिव का चने की दाल से अभिषेक करें

तंत्र बाधा नाश हेतु व बुरी नजर से बचाव के लिए काले तिल से अभिषेक करें

संतान प्राप्ति व पारिवारिक सुख-शांति हेतु शहद मिश्रित गंगा जल से अभिषेक करें

रोगों के नाश व लम्बी आयु के लिए घी व शहद से अभिषेक करें

आकर्षक व्यक्तित्व का प्राप्ति हेतु भगवान शिव का कुमकुम केसर से अभिषेक करें

भगवान शिव वैसे भी बहुत भोले हैं, यदि कोई भक्त सच्चे दिल से उन्हें सिर्फ एक लोटा पानी भी अर्पित कर दे तो भी वे प्रसन्न हो जाते हैं। और मन वांछित फल देते हैं

ॐ कैसे है स्वास्थ्यवर्द्धक और अपनाएं आरोग्य के लिए ॐ के उच्चारण का मार्ग…

हर तस्वीर में, हर मूर्ति में, हर जगह शिव के सिर पर चंद्रमा और गले में सांप दिखाया जाता है। क्या है आखिर शिव का इनसे संबंध ?

भोलेनाथ :- How To Impress Lord Shiv?

Loading...
loading...

Related posts