Search

रांगे की अंगूठी :- मोटापे से मुक्ति

रांगे की अंगूठी :- मोटापे से मुक्ति

रांगे की अंगूठी अपनाने पर चमत्कारी ढंग से मोटापा कम होने लग जाता है। आज के समय में काफी अधिक लोगों की समस्या है । असंतुलित खान-पान और अनियमित दिनचर्या के चलते वजन बढ़ने की शिकायत आम बात हो गई है। यदि सही समय पर ध्यान न दिया जाए तो मोटापा किसी बड़ी बीमारी का रूप ले सकता है। अधिक वजन बढ़ने के बाद इससे मुक्ति पाना बहुत मुश्किल हो जाता है।

मोटापा
कई लोग मोटापे से मुक्ति पाने के लिए डॉक्टर्स के क्लिनिक के चक्कर लगाते हैं, कई प्रकार के देसी नुस्खें अपनाते हैं, लेकिन इतने प्रयासों के बाद भी सकारात्मक परिणाम प्राप्त नहीं कर पाते हैं। इस समस्या से निजात पाने का ज्योतिष में भी सटीक और कारगर उपाय बताया गया है। यह उपाय काफी प्राचीन समय से प्रचलित है और ऐसा माना जाता है कि इसे अपनाने पर चमत्कारी ढंग से मोटापा कम होने लग जाता है।
मोटापा दूर करती है रांगे की अंगूठी
जो लोग मोटापे से मुक्ति चाहते हैं, उन्हें अनामिका उंगली (रिंग फिंगर) में रांगे की धातु से बनी अंगूठी पहनना चाहिए। अंगूठी पहनने के लिए सर्वश्रेष्ठ दिन रविवार है।
कहां मिलेगी रांगे की अंगूठी
रांगे की अंगूठी सोना-चांदी आदि धातु का व्यापार करने वाली दुकान पर आसानी से उपलब्ध हो सकती है।
ध्यान रखें ये बात
रांगे की अंगूठी को धारण करने के लिए एक विधि बताई गई है। इसी विधि के अनुसार रांगे की अंगूठी धारण करने पर सकारात्मक फल प्राप्त होते हैं। अन्यथा यह उपाय निष्फल हो सकता है।

किस प्रकार पहनें रांगे की अंगूठी
किसी भी रविवार के दिन थोड़ा सा काला धागा अपनी अनामिका उंगली पर जहां अंगुठी पहनी जाती है, वहां लपेट लें। इसके बाद रांगे की अंगूठी को पहन लें। अंगूठी इस प्रकार पहनें कि वह काला धागा दिखाई न दें।

इन बातों की सावधानी रखें
यह प्रयोग काफी कारगर है। इस प्रकार रांगे की अंगूठी पहनने से मोटापे की समस्या से जल्दी ही मुक्ति मिलेगी। यदि किसी व्यक्ति का कोई चिकित्सकीय उपचार चल रहा है तो वह बंद नहीं किया जाना चाहिए। डॉक्टर्स से परामर्श किए बिना दवाइयों लेना बंद नहीं करना चाहिए। डॉक्टर्स द्वारा बताई गई टिप्स का भी नियमित रूप से पालन करें।
इस उपाय के साथ ही आप अपनी दिनचर्या संयमित करें और खान-पान का विशेष ध्यान रखें। अत्यधिक वसा वाला खाना ना खाएं। व्यायाम करें। इस प्रकार जल्द ही मोटापे से निजात मिलेगी। साथ ही, ध्यान रखें कि असमय सोना नहीं चाहिए।
मोटापे से बचने के लिए शाम के समय भोजन नहीं करना चाहिए। खाना खाने के लिए संध्या काल सही नहीं होता है। थोड़ा रुककर रात्रि के समय भोजन करना स्वास्थ्य के लिए विशेष लाभदायक होता है।
जो लोग शाम के समय भोजन करते हैं, उन्हें पेट संबंधी बीमारियां जैसे अपच, गैस, पेट में जलन, पेट दर्द, कब्ज आदि हो सकती हैं। यदि किसी व्यक्ति को शाम के समय ज्यादा ही भूख लगी हो तो वह हल्का नाश्ता कर सकता है, फलों का रस ले सकता है।
Loading...
loading...

Related posts