Search

ब्रेन फूड जिनके खाने से आपका दिमाग हो जाएगा पावरफुल

ब्रेन फूड जो अपने आप में खास हैं

ब्रेन फूड उन लोगों के लिए जो अक्सर छोटी-छोटी बातें भूल जाते हैं। और जब याद आती है तो लगता है मुझसे ये गलती कैसे हो गयी । आज हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ खास ब्रेन फूड। जिन्हें खाने से अल्जाइमर (Alzheimer’s) रोग नहीं होता है। साथ ही, दिमाग की पावर (Brain Power) भी बढ़ता है।
टमाटर (Tomatoes)- खट्टा-मीठा टमाटर खाने के जायके को तो बढ़ाता ही है। इसमे प्रोटीन (Protein), विटामिन(Vitamin) , वसा (Fat) आदि तत्व पाए जाते हैं। इसमें कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates) की मात्रा कम होती है। टमाटर में लाइकोपिन (Lycopene) होता है। यह शरीर की फ्री रैडिकल्स (Free radicals) से रक्षा करता है। साथ ही, यह ब्रेन फूड ब्रेन की सेल्स (Brain Cell) को डैमेज (Damage) होने से भी बचाता है।
अखरोट (Walnut) – रोज अखरोट खाने से पोषक तत्वों (Nutrients) की कमी दूर हो जाती है। साथ ही, सेहत से जुड़ी कई समस्याएं भी खत्म होती है। अखरोट में ओमेगा 3 (Omega-3), फैटी एसिड (Fatty acid) , प्रोटीन (Protein), फाइबर (Fiber) और एंटीआक्सीडेंट (Antioxidant) अच्छी मात्रा में पाए जाते हैंं। थोड़ी अखरोट रोज खाने से याददाश्त बढ़ती है।
स्ट्रॉबेरी (Strawberry) – स्ट्रॉबेरी अपनी मनमोहक सुगंध और स्वाद के कारण पूरी दुनिया में बहुत लोकप्रिय है। इसका नाम सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। स्ट्रॉबेरी मिल्क शेक (Strawberry Milkshakes) , आइसक्रीम (Ice-cream)  आदि का स्वाद भी बढ़ाती है। इस ब्रेन फूड में भरपूर मात्रा में एंटीआक्सीडेंट (Antioxidant) पाए जाते हैं, जो मेमोरी लॉस (Memory Loss) से बचाने का काम करते हैं।
जैतून (Olives) – जैतून का तेल केवल आपके स्वास्थ्य के लिए ही नहीं, बल्कि चेहरे की खूबसूरती के लिए भी लाभदायक है। जैतून में अच्छी मात्रा में फैट (Fat) पाया जाता है। इसीलिए यह ब्रेन फूड याददाश्त (Memory) बढ़ाने का काम भी करता है।
दही (Curd) – दही में प्रोटीन (Protein) , कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates), वसा (Fat) , खनिज (Mineral) , लवण (Salt) , कैल्शियम (Calcium) और फॉस्फोरस (Phosphorus)  पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। दही का नियमित सेवन करने से कई लाभ होते हैं। यह शरीर में लाभदायी जीवाणुओं (Beneficial bacteria) की बढ़ोत्तरी करता है और हानिकारक जीवाणुओं को नष्ट करता है। इसमें अमीनो एसिड (Amino acid) पाया जाता है, जिससे दिमागी तनाव (Brain Strain) दूर होता है और मेमोरी पावर बढ़ता है।
जायफल (Nutmeg) – जायफल को अपने विशेष स्वाद और सुगंध के लिए जाना जाता है। इसमें ऐसे तत्व होते हैं, जो दिमाग को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। साथ ही, याददाश्त को बेहतर बनाते हैं।
तुलसी (Basil) – तुलसी को हिंदू धर्म में देवी का रूप माना गया है। इसका उपयोग मसाले के रूप में भी किया जाता है। यह कई बीमारियों में औषधि का काम करती है। रोजाना तुलसी के 2-4 पत्ते खाने से बार-बार भूलने की बीमारी (Alzheimer’s) दूर हो जाती है।
अलसी (Linseed) – अलसी के बीज में बहुत सारा प्रोटीन (Protein)और फाइबर (Fiber) होता है। इन्हें खाने से दिमाग तेज होता है।

चाय (Tea) – चाय में पाया जाने वाला पॉलीफिनॉल (Polifenol) दिमाग को संतुलित रखने में मदद करता है। यह दिमाग को शांत और एकाग्र भी बनाता है। ग्रीन टी (Green Tea) भी गुणों से भरपूर है। इसमें बहुत अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) पाए जाते हैं। इसीलिए इसके नियमित सेवन से शरीर स्वस्थ रहता है। दिन भर में दो से तीन कप ग्रीन टी पीने से याददाश्त बढ़ती है।

केसर (Saffron) – केसर एक ऐसा ब्रेन फूड है जो खाने के स्वाद को दोगुणा कर देता है। केसर का उपयोग अनिद्रा (Insomnia) दूर करने वाली दवाओं में किया जाता है। इसके सेवन से मस्तिष्क ऊर्जावान (Energetic) रहता है।

loading...

हल्दी (Turmeric) – हल्दी दिमाग के लिए एक अच्छा ब्रेन फूड है। यह सिर्फ खाने के स्वाद और रंग में ही इजाफा नहीं करती है, बल्कि दिमाग को भी स्वस्थ रखती है। इसके नियमित सेवन से अल्जाइमर रोग (Alzheimer’s disease) नहीं होता है। साथ ही, यह दिमाग की क्षतिग्रस्त कोशिकाओं को रिपेयर (Repair damaged brain cells)  का भी काम करती है।

दालचीनी (Cinnamon) – अल्जाइमर (Alzheimer’s) रोगियों के लिए दालचीनी एक जबरदस्त दवा है। दालचीनी के नियमित सेवन से याददाश्त बढ़ती है और दिमाग स्वस्थ (Healthy mind) रहता है।

अजवाइन की पत्तियां (Celery leaves) – यदि आप अपने खाने को अलग फ्लेवर देना चाहते हैं तो अजवाइन की पत्तियों का उपयोग करें। अजवाइन की पत्तियां शरीर को स्वस्थ और जवान बनाए रखने में मदद करती हैं। दरअसल, अजवाइन की पत्तियों में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट ((Antioxidant)) पाए जाते हैं। इसीलिए यह दिमाग के लिए औषधि की तरह काम करती हैं। यही कारण है कि अरोमा थेरेपी (Aroma therapy) में भी इसका उपयोग किया जाता है।

जरुर पढ़े :- लड़कियों के आकर्षण का केन्द्र बनना है तो लड़के खाएं ये 10 फूड्स

कालीमिर्च (Black pepper) – कालीमिर्च में पेपरिन (Peprin) नाम का रसायन पाया जाता है। यह रसायन शरीर और दिमाग की कोशिकाओं को रिलैैक्स (Relax) करता है। डिप्रेशन (depression) में यह रसायन जादू-सा काम करता है। इसीलिए यदि आप अपने दिमाग को स्वस्थ बनाए रखना चाहते हैं तो खाने में काली मिर्च का उपयोग करें।

Loading...
loading...

Related posts