Search

बिटकॉइन (Bitcoin) आज के समय में दे रहा है सबसे ज्यादा मुनाफा

स्टॉक मार्केट में मल्टी बैगर शेयर्स की तलाश इन्वेस्टर्स को हमेशा रहती है। हालांकि, अगर पिछले दो वर्षों में इन्वेस्टर्स ने करंसी जैसे कम ग्रोथ की संभावना वाले ऐसेट को चुना होता तो उन्हें बहुत अच्छा रिटर्न मिल सकता था। पिछले कुछ समय से सुर्खियों में रही क्रिप्टोकरंसी बिटकॉइन (Bitcoin) ने 2015 से 18 गुना से अधिक रिटर्न दिया है

पिछले सप्ताह डोमेस्टिक स्पॉट मार्केट में इस डिजिटल इंस्ट्रूमेंट की कीमत 3,94,000 रुपये प्रति यूनिट के साथ रेकॉर्ड लेवल पर पहुंच गई।

loading...

बिटकॉइन (Bitcoin) में ट्रेडिंग खास तौर पर 18-35 वर्ष के लोगों के बीच लोकप्रिय हो रही है। ऐप-बेस्ड बिटकॉइन (Bitcoin) एक्सचेंज, जेबपे के को-फाउंडर और चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर संदीप गोयनका ने बताया, ‘दुनियाभर में बिटकॉइन (Bitcoin) को लेकर जागरूकता बढ़ने से इसका मार्केट बढ़ रहा है। जापान अब उन देशों में शामिल हो गया है, जिनके पास बिटकॉइन (Bitcoin) के लिए रेग्युलेशंज हैं। इन वजहों से बिटकॉइन (Bitcoin) की प्राइसेज में बहुत मजबूती दिख रही है।

भारत में भी अब की ट्रेडिंग को रेग्युलेट करने पर विचार किया जा रहा है। इससे अगले एक वर्ष में इसके प्राइसेज और बढ़ सकते हैं। जापान के इस डिजिटल करेंसी को कानूनी रूप देने से इसमें काफी तेजी आई है। जापान के इस कदम के बाद कई वेंडर्स ने इस वर्चुअल करंसी को स्वीकार करना शुरू कर दिया है। उदाहरण के लिए, पीच एविएशन विमान की टिकटों के लिए बिटकॉइन (Bitcoin) स्वीकार करने वाली जापान की पहली एयरलाइन बनने जा रही है।

भारत में बिटकॉइन (Bitcoin) को लेकर दिलचस्पी बढ़ने के साथ ट्रेडिंग वॉल्यूम और प्राइसेज में बढ़ोतरी हो रही है। डीलर्स ने बताया कि जून 2015 में एक बिटकॉइन (Bitcoin) की कीमत लगभग 20,000 रुपये थी, जो हाल ही में बढ़कर 3,94,000 रुपये पर पहुंच गई। हालांकि, पिछले कुछ दिनों में इसके दाम कुछ नीचे आए हैं।

निरमा यूनिवर्सिटी, अहमदाबाद में बीबीए के फाइनल इयर के स्टूडेंट सलिल शाह ने चार बिटकॉइन (Bitcoin) करीब 2.20 लाख प्रति यूनिट की कीमत पर बेचे हैं। उन्होंने ये बिटकॉइन (Bitcoin) 70,000 रुपये प्रति यूनिट के ऐवरेज प्राइस पर खरीदे थे। शाह ने कहा, ‘यह तेजी एक बुलबुले की तरह है, लेकिन इससे उन इन्वेस्टर्स को बड़ा प्रॉफिट कमाने का मौका मिला है जिन्होंने दो-तीन वर्ष पहले इसे खरीदा था। मैं प्राइसेज के कुछ नीचे आने पर इन्हें दोबारा खरीदूंगा।’

इन्वेस्टर्स के लिए एक बिटकॉइन (Bitcoin) खरीदना जरूरी नहीं है। वे इसका एक हिस्सा भी खरीद सकते हैं। जेबपे पर बिटकॉइन (Bitcoin) में न्यूनतम 1,000 रुपये का निवेश किया जा सकता है। जेबपे पर अभी ट्रेडिंग वॉल्यूम लगभग 50 करोड़ रुपये प्रतिदिन की है, जो एक वर्ष पहले तक 15-20 करोड़ रुपये की थी। गोयनका के अनुसार, जेबपे के पास करीब 70 पर्सेंट मार्केट शेयर है। बिटकॉइन (Bitcoin) में ट्रेडिंग के लिए कॉइनसिक्योर और कॉइनमामा जैसे कुछ प्लेटफॉर्म भी अवेलबल हैं। किसी भी अन्य इन्वेस्टमेंट की तरह बिटकॉइन (Bitcoin) में भी जोखिम है। इसके प्राइसेज में बड़ा उतार-चढ़ाव होता रहता है।

सरकार ने बिटकॉइन (Bitcoin) के भविष्य के बारे में लोगों से राय भी मांगी थी

डिजिटल मुद्रा के बारे में ‘my gov’ प्लेटफार्म पर सुझाव आमंत्रित किये गये थे । इस मंच की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जुलाई 2014 में की थी। पिछले कुछ समय से आभासी मुद्रा का चलन दुनिया भर के केंद्रीय बैंकों के बीच चिंता का सबब बना हुआ है। रिजर्व बैंक ने भी बिटकॉइन समेत आभासी मुद्रा रखने वालों को आगाह किया है।

वित्त मंत्रालय ने डिजिटल मुद्रा की भारत और दुनिया के अन्य देशों में स्थिति का जायजा लेने और इस प्रकार की मुद्रा से निपटने के लिये मार्च में अंतर-अनुशासनात्मक समिति गठित की है। ‘my gov’ प्लेटफार्म पर कुछ सवाल थे , जिनमें पूछा गया था  कि क्या आभासी मुद्रा को प्रतिबंधित किया जाए या फिर उसे नियमित किया जाए? इस बारे में भी सुझाव मांगे गए थे कि आभासी मुद्रा को नियंत्रित और नियमित कैसे किया जा सकता है। कोई भी व्यक्ति ‘mygov.in’ पर जाकर 31 मई तक अपनी प्रतिक्रिया दे सकता था ।

Loading...
loading...

Related posts