Search

Measures to keep children away from junk food

बच्चों को जंक फ़ूड से दूर रखने के उपाय

क्या आप भी उन माता पिता में शामिल हैं जिनकी अक्सर ये शिकायत रहती है की बच्चे कुछ नहीं खाते सब चीज ला कर देते हैं लेकिन बाज़ार का चटपटा और जंक फ़ूड में तो इंटरेस्ट दिखाते हैं लेकिन घर पर कितना भी अच्छा खता बना लो वो मुह भी नहीं करते और एक ही जवाब सुनने को मिलता है की भूख नहीं है क्या आप चाहते हैं कि आपका बच्चा पोषक आहार का ज्यादा सेवन करे और जंक फूड कम खाए? शोधकर्ताओं ने इसके लिए बच्चों के सामने स्वास्थ्यवर्धक भोजन को आकर्षक ढंग से रखने की सलाह दी है ताकि बच्चे उसे खाकर स्वस्थ रह सकें। फास्ट फूड रेस्तरां में फ्राइज या जूस जैसे ज्यादा पसंदीदा खाने के होते हुए लोगों के लिए और खासतौर पर बच्चों के लिए स्वास्थ्यवर्धक विकल्प चुनना बेहद मुश्किल होता है।

बहुत से अध्ययन से ये बात साबित हुई है की बच्चे खाने की गुणवत्ता की जगह उसके प्रेजेंटेशन पर ज्यादा ध्यान देते हैं यदि आप कुछ नयापन के साथ वही चीज देंगी तो बच्चा उसे ख़ुशी से खा लेगा लेकिन यदि वही चीज यदि पुराने तरीके से देंगे तो उसका वही जवाब होगा “ना”
अध्ययन से साबित हुआ कि सेब का विकल्प मौजूद होने पर भी, ज्यादातर बच्चों ने सेब की तुलना में फ्रेंच फ्राइज लेना पसंद किया।
अमेरिका के कॉर्नेल फूड और ब्रांड लैब के डेविड जस्ट ने कहा, “हमने अनुमान लगाया था कि पसंदीदा फ्रेंच फ्राइज का विकल्प होने की स्थिति में बच्चे स्वास्थ्यवर्धक विकल्प का चुनाव नहीं करेंगे।”टीम ने छह से आठ साल की उम्र के 15 बच्चों पर यह प्रयोग किया जिसमें उन्होंने यह देखने के लिए एक फास्ट फूड रेस्तरां से चिकन नगेट्स मंगवाए कि बच्चे स्वास्थ्यवर्धक विकल्प का चुनाव करते हैं या नहीं।

loading...

शोध में शामिल आधे बच्चों को खाने के साथ फ्रेंच फ्राइज दिए गए और उनसे कहा गया कि वे उसकी जगह सेब ले सकते हैं और बाकी बच्चों को सेब दिया गया और उनसे कहा गया कि वे उसकी जगह फ्रेंच फ्राइज ले सकते हैं।

परिणाम से ज्ञात हुआ कि जब बच्चों को पहले सेब दिया गया, लेकिन बाद में विकल्प के तौर पर फ्रेंच फ्राइज भी रखे गए तो उनमें से 86.7 प्रतिशत बच्चों ने सेब की जगह फ्राइज लिए।

एक अन्य शोधकर्ता ब्रायन वानसिंक ने कहा, “सेब के साथ थोड़े से फ्रेंच फ्राइज देना भी एक अन्य उपाय है। इससे बच्चों को अपने पसंदीदा खाने से दूर नहीं रहना पड़ेगा, वे केवल उसे कम मात्रा में खाएंगे।”  लेकिन खायेंगे जरुर !

Loading...
loading...

Related posts