Search

जवानी :- Youth do not want to preserve and what to do if ?

जवानी कायम रखना चाहते हैं तो क्या करें और क्या ना करें ?

जवानी हमेशा कायम नहीं रहती है ऐसा हम सभी सोचते हैं लेकिन आयुर्वेद की माने तो आप 100 साल तक अपनी जवानी कायम रख सकते हैं कुछ बातों का ध्यान रखने है कुछ परहेज रखने हैं ताकि आप 100 साल के बूढ़े ना लगकर 100 साल के जवान लगें आजकल जो दिनचर्या हम लोगों ने अपनाई हुई है वो हमारी जवानी को घुन के तरह धीरे धीरे ख़तम कर रही है एक फिल्म का गाना भी बना है ” एक बार जो आये जवानी फिर ना आये “

समय पर खाने में लापरवाही , मानसिक रोग, चिंता, सारा दिन बैठ कर काम करने, मोटापा ये सब बातें इंसान को जवानी में ही बूढा बना रही है

loading...

जवानी कायम रखने के लिए क्या करें ?

  1. प्रतिदिन सैर, हल्का व्यायाम , प्राणायाम जरुर करें और इन सब को करने के बाद 1 गिलास सादा पानी लेकर उसमे 1/2 नींबू निचोढ़ कर उसमे 2 चम्मच शहद मिलाकर अवश्य लें
  2. नाश्ते में खट्टे फलों का रस जरुर पियें
  3. दोपहर के खाने में मौसम के फल जरुर खाएं फल ना मिलें तो सलाद जरुर लें
  4. पूरे दिन में अपने weight के मुताबिक पानी जरुर पियें (मान लीजिये आपका वजन ६०किलो है तो 60 को 10 से भाग दे कर 6 आया उसमे से 2 घटा दो बाकि ४ बचा तो आपको सारे दिन में ४ लीटर पानी जरुर पीना है ये एक आयुर्वेदिक नुस्खा है जो आपके शरीर से सारे विजातीय द्रव्य निकाल कर आपको एनर्जी देगा
  5. रात को खाने के समय आप दलिया , खिचड़ी या 2 चपाती दाल या मौसम की सब्जी के साथ ले सकते हैं
  6. खाना खाने के बाद कम से कम १००० कदम सैर जरुर करनी चाहिये
  7. सोने से 30 मिनट पहले 1 गिलास गरम ढूध मीठा डाल कर (देसी खांड या शक्कर या गुड़ ) खड़े हो कर पियें ढूध गाय का होना चाहिये
  8. रात को सोते समय अपने सिरहाने तांबे का जग भर कर रख लें और सुबह उठकर बासी मुह उसका सेवन करें कम से कम 2 गिलास और अधिक ४ गिलास
  9. जब भी शौच जाएँ  के समय दांतों को आपस में भींच लें इससे दांतों का कोई भी रोग नहीं होगा
  10. नहाते समय पानी में 1/2 नींबू डाल कर नहाये इससे स्किन का कोई भी रोग नहीं होगा और उसकी कांति बनी रहेगी
  11. पानी हमेशा बैठ कर पियें
  12. कुछ समय के लिए ध्यान अवश्य करें

अब आपके मन में प्रशन उठ रहा होगा की इतना कम खाने से कैसे काम चलेगा तो हम आपको बताते हैं जब इंसान की उम्र १८ साल की हो जत्ती है तो ये बोला जाता है की इस पर जवानी आ गयी दाड़ी मूछ आ गयी

आज हम आपको इसका राज बताते हैं हमारे शरीर का विकास १८ साल तक जितना होना होता है वो हो चूका होता है उसके बाद हमें खाने की इतनी जरुरत नहीं होती जितना की हम खाते हैं यदि एक example से समझाए तो जब भी हम कोई मकान बनाते हैं तो उसके बनाए के लिए ईंट, लोहा, लकड़ी, पानी, रेत, सीमेंट, बजरी आदि चीजों की आवश्यकता होती है लेकिन जब मकान बन जाता है तो इतने सामान की जरुरत नहीं होती जितना मकान बनाते समय लगता है तब तो सिर्फ उसकी देख रेख के लिए थोडा बहुत tut फुट के लिए उसकी मुरम्मत के लिए कुछ सामान चाहिये होता है इसी तरह शरीर को भी जब वो निर्माण की अवस्था मै होता है तब प्रोटीन, विटामिन, आयरन, मिनरल्स आदि चीज़ों की जरुरत होती है १८ साल के बाद ये जरुरत कम होती जाती है लेकिन हम है की खाने के पीछे पड़े रहते हैं और धीरे धीरे बिमारियों हम को घेर लेती है हम उसको जबर्दस्ती काम लेते रहते हैं और जल्द ही बूढ़े लगने लगते है और एक समय एस्सा आता है की बिना दवाई के चल भी नहीं पाते और ज़िन्दगी बोझ लगने लगती है और 60-70 आते आते हम शरीर त्याग देते हैं

जो लोग जवानी से प्यार करते हैं और चाहते है की सदा जवान रहें उनको ये दिनचर्या अपनानी ही पड़ेगी नहीं तो आप आगे आगे और बीमारियां पीछे पीछे

जवानी कायम रखने के लिए क्या ना करें ?

  1. कभी भी मासांहार ना खाएं
  2. चाय कॉफ़ी बीडी सिगरेट तम्बाकू शराब और नशीले पदार्थों का सेवन ना करें
  3. यदि आपको अपने शरीर में किसी पीड़ा का अनुभव होता है तो गरम पानी पीयें कोई दवाई ना लें
  4. जितनी भूख हो उससे थोडा कम खाएं कभी स्वाद के चक्कर में जायदा या पेट भर कर ना खाएं
  5. सड़े गले फल या सब्जी का सेवन ना करें
  6. सूर्य निकलने का बाद तक कभी ना सोयें
  7. अधिक देर तक ना जागें
  8. किसी भी स्थान पर 30 मिनट से जायदा एक ही मुद्रा में ना रहें
  9. तला भुना मिर्च मसालों से हमेशा दूर रहें
  10. जब नींद ना आ रही हो तो जबरदस्ती ना सोयें और 8 घंटे से ज्यदा भी मत सोयें
  11. मल मूत्र के वेग को कभी मत रोकें १००० काम छोड़ कर भी इनको प्राथमिकता दें
  12. किसी से लड़ाई झगड़ा न करें

जवानी कायम रखने का आयुर्वेदिक चूर्ण

इस चूर्ण को घर पर बनाने की विधि
100 ग्राम सूखे आंवले का चूर्ण
100 ग्राम भृंगराज (भांगरा) का चूर्ण
100 ग्राम काले तिल (साफ़ कर के) इसका चूर्ण
100 ग्राम गोखरू का चूर्ण

एन सब चूर्ण  को अच्छे से मिला लीजिये, फिर इस में 400 ग्राम पीसी हुयी मिश्री मिला लीजिये। उसके बाद इसमें 100 ग्राम शुद्ध गाय देशी घी मिला लीजिये और अंत में इस में 200 ग्राम शहद मिला लीजिये। अब इस चूर्ण को किसी कांच या चीनी के बर्तन में सुरक्षित रख ले। इस चूर्ण को एक चम्मच (5 ग्राम) की मात्रा में खाली पेट नित्य सेवन करे और ऊपर से गाय का दूध या गुनगुना पानी पीजिये।

इस चूर्ण को हर रोज लेने से आपके शरीर का पूरा कायाकल्प हो जायेगा। यदि बाल झड़ गए हैं तो  दोबारा उग आएंगे, सफ़ेद हो गए हैं तो काले हो जायेंगे। ढीले दांत भी मज़बूत बन जायेंगे। चेहरे पर चमक  आ जाएगी। शरीर शक्ति शाली और वाजिकर्ण  युक्त हो जाएगा।

सावधानी :- उपर लिखी मात्रा को कम या जायदा ना करें

नोट :- बीड़ी , सिगरेट, शराब ,अंडा, मांस, मछली, नशीले पदार्थो का सेवन एवं वीर्य नाश वर्जित हैं।

जवानी को कायम रखना आपके अपने हाथ में है यदि आप उपर लिखित बत्तों पर अमल करते हैं तो यकीं मानिये आपकी जवानी को बुढ़ापा छू भी नहीं सकेगा

Loading...
loading...

Related posts