Search

इलाइची (Elaichi) के आयुर्वेदिक और औषधीय गुण

इलाइची (Elaichi)/ Green-cardamom

इलाइची का लैटिन नाम इलेट्टेरिया कार्डियोभम है। यह एक अत्यंत उपयोगी फल है, इसका क्षुप सदा हरित होता है। इलाइची में टर्पिन, टर्पिनीनोल, सिनिओल, टर्पिनिल एसिटेट नमक रासायनिक तत्त्व पाया जाता है।

आचार्य भावमिश्र के कथनानुसार 

loading...
“सुक्ष्मोपकुंचिका तुत्था कोरन्गी द्राविड़ी त्रुटी: , 
      रसे तु कटुका  शीता लध्वी वातहरी भता।
    एला सूक्ष्मा कफवात श्वास कासार्शो  मूत्र कृच्छहृत ।”
इलाइची दो प्रकार की होती है।
1. छोटी इलाइची (इलेट्टेरिया कार्डियोभम)
2. बड़ी इलाइची  (एभाभम सुब्यूलेटम)
1. छोटी इलाइची खाने के फायदे :-
इलायची को मसालों की महारानी कहा जाता है। तीव्र सुगन्ध और स्वाद की वजह से इसका इस्तेमाल विभिन्न व्यंजनों में होता है। अरोमाथेरेपी में भी इलायची के तेल का प्रयोग किया जाता है। भारत में इसके बीजों का उपयोग अतिथिसत्कार, मुखशुद्धि तथा पकवानों को सुगंधित करने के लिए होता है। ये पाचनवर्धक तथा रुचिवर्धक होते हैं। आयुर्वेदिक मतानुसार इलाचयी शीतल, तीक्ष्ण, मुख को शुद्ध करनेवाली, पित्तजनक तथा वात, श्वास, खाँसी, बवासीर, क्षय, वस्तिरोग, सुजाक, पथरी, खुजली, मूत्रकृच्छ तथा हृदयरोग में लाभदायक है।
  • Elaichi में विटामिन सी, जिंक, आयरन, पोटेशियम, कैल्सियम पाया जाता है
  • Elaichi सिर्फ एक मसाला या माउथ फ्रेशनर नहीं है इसका सेवन करने से बहुत से बीमारियों से बचाव किया जा सकता है|
  • अस्थमा खांसी और गले में सूजन में इलाइची चबा के खाने से बहुत फायदा होता है, यदि रोज 2-3 इलाइची चबा के खा ली जाये या फिर 2-3 इलाइची को 1 कप पानी में उबाल के चाय की तरह से पीने से गले की खराश और खांसी में बहुत फायदा होता है|
  • Elaichi में बहुत सारे एंटी ऑक्सीडेंट होते है जिसके सेवन से स्किन की एलर्जी में फायदा होता है, और त्वचा में एक नयी चमक आ जाती है|
  • Elaichi कोलेस्ट्रोल को कम करती है ब्लड प्रेशर को रेगुलेट करती है और ब्लड फ्लो को बढाती है रोज इलाइची खाने से दिल की बीमारी नहीं होती है|
  • Elaichi सांस की बदबू कम करती है मसूढो और दांतों को मजबूत बनाती है|
  • मुहं में छाले होने पर Elaichi को मिसरी के साथ चबा के खाने से फायदा होता है|
  • पेट की बीमारी की सभी बीमारियों जैसे अपच, गैस, जलन, दस्त, उलटी से छुटकारा दिलाती है इसलिए खाने के बाद एक इलाइची चबा के खाने से ये सब नहीं होता है और पाचन सकती मजबूत होती है|
  • Elaichi रोज खाने से बाल मजबूत होते है और बाल गिरने की समस्या दूर होती है और बाल काले बने रहते है|
  • Elaichi में एंटी कार्सिनोगेनिक प्रॉपर्टी होती है जो कैंसर सेल को बनने से रोकती है|
  • Elaichi एक एंटी डिप्रेसन का भी काम करती है अगर आप डिप्रेसन का शिकार है तो आप को रोज इलाइची का सेवन करना चाहिए| ये दिमाग  तरोताजा रखती है |
  • Elaichi हमारे यूरिनरी ट्रैक्ट को भी मजबूत बनती है| आयुर्वेद में यूरिनरी ट्रैक्ट की बीमारियों के लिए इलाइची का प्रयोग किया जाता है|
  • Elaichi जोड़ो के दर्द में बहुत फायदा दिलाती है|
  • जो लोग अपना वजन कम करना चाहते है उनके लिए भीElaichi बहुत फायदेमंद है|
  • अगर आपको हिचकी आ रही तो इलाइची को पानी में उबाल के पानी पी लीजिये तो हिचकी रुक जाएगी|
  • छोटी Elaichi का तेल रतौंधी के लिए सर्व श्रेष्ठ है, इसके तेल को लगाने से जीर्ण रतौंधी भी ठीक हो जाती है।
  • मस्तिष्क  शूल में इसके बीजों को पीस कर सूंघने से छीके आकर मस्तिष्क शूल नष्ट हो जाया है।
  • Elaichi चूर्ण को दूध के साथ प्रयोग करने से पेशाब की जलन में लाभ होता है।
  • ह्रदय रोग  में Elaichi चूर्ण व पीपरामूल चूर्ण को गौ  घृत में मिला कर चाटने से कफ जनित हृद्रोग नष्ट होता है।
  • हैजे (उलटी एवं दस्त) में इलाइची को दरदरा चूर्ण करके एक लीटर पानी में उबल कर चौथाई शेष रहने पर छान  कर प्रयोग करने से आशातीत लाभ मिलता है।
  • पथरी में खीरे के बीज के साथ इलाइची पीस कर गर्म पानी से उपयोग करना श्रेयकर होता है।
  • नकसीर में इलाइची के अर्क को 10-20 मिली तीन-तीन घंटे पर लेने से नकसीर ठीक हो जाती है।
  • पेशाब की गड़बड़ी (मूत्र कृच्छ ) में आंवले के रस में इलाइची चूर्ण डाल कर डाल कर लेना चाहिए।
  • बिच्छू के काटने पर दंश पर इलाइची का तेल लगाने से दर्द व जलन शांत होकर जहर उतर जाता है।
  • बसों में उलटी की आशंका होने पर इलाइची को चबाकर चूसने से उलटी नहीं आती है।
  • कर्ण शूल में इलाइची का तेल अत्यंत उपयोगी है।
  • सौंफ के साथ इलाइची सेवन से पाचन शक्ति बढती है तथा अम्लपित्त (एसिडिटी) में लाभ होता है।

2. बड़ी इलाइची खाने के फायदे  :- 

बड़ी इलाइची का उपयोग गरम मसाले एवं स्नायु शूल में विशेष रूप से किया जाता है। किचन में रखे मसालों से होने वाले बहुत से फायदों के बारे में अापने जरुर सुना होगा, पर क्या आपने बड़ी इलायची से होने वाले फायदों के बारे में जानते है. जी हां बड़ी इलायची जिसे काली इलायची, भूरी इलायची, लाल इलायची, नेपाली इलायची या बंगाल इलायची भी कहते हैं. गुणों की खान मानी जाने वाली इलायची हमारे शरीर और स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है. तो आईए जानते है कि क्या हैं बड़ी इलायची के बड़े-बड़े फायदे.

1. कैंसर से बचाए :- इसमें कैंसर विरोधी गुण होते हैं. यह शरीर में कैंसर सेल्स के विकास को रोकने का काम करती है और यह एंटीऑक्सीडेंट के स्तर को भी बढ़ाती है.

2. सिर दर्द और तनाव में रामवाण :- बड़ी इलायची में दर्द दूर करने की अनोखी क्षमता पाई जाती है, खासकर सिर दर्द में तो यह रामवाण का काम करती है। इससे तैयार किएजाने वाले सुगंधित तेल से तनाव और थकान जैसी समस्याएं दूर हो जाती है.

3. स्किन बनाए सुंदर :- बड़ी इलायची के नियमित सेवन से स्किनका ग्लो बढ़ता है. यह इलायची न सिर्फ उम्र ढलने से रोकती है, बल्कि इससे त्वचा का रंग भी निखरता है.

4. गुर्दे की बिमारियां करे दूर :- इसे यूरिनरी हेल्थ के लिए काफी अच्छा माना जाता है. इसके सेवन से गुर्दे की बहुत सी बिमारियां दूर होती है.

5. ब्लड प्रेशर में फायदेमंद :- बड़ी इलायची का सेवन अगर रोज किया जाए तो ब्लड प्रेशर की समस्या से निजात मिलती है.

6. छोटे बच्चो का दूध उबलते समय अगर उसने एक बड़ी इलाइची ऐसे ही डाल के उबाल दिया जाए तो बच्चो को गैस नहीं बनती है और उनका पेट ठीक रहता है|

सावधानी:-  रात को इलायची न खायें, इससे खट्टी उकारें आती है। महिलाओं के लिए इसके अधिक सेवन से गर्भपात होने की भी सम्भावना रहती है।

Article SOurce :- http://jharamanand.blogspot.in/, http://www.kalchul.com/

Loading...
loading...

Related posts