Search

अश्वगंधा (Rennet) के आयुर्वेदिक और औषधीय गुण

अश्वगंधा (Rennet) के फायदे

    1. अश्वगंधा (Rennet) :- अश्वगंधा का दवा के रूप में सैकड़ों वर्षों से उपयोग किया जाता रहा है. अश्वगंधा में अनेक चमत्कारी गुण हैं, और कई परेशानियों में यह आश्चर्यजनक रूप से लाभकारी है. अश्वगंधा का आयुर्वेद में बहुत ज्यादा उपयोग किया जाता है. इसका सही मात्रा में उपयोग करना कई मामलों में फायदेमंद है, लेकिन साथ हीं एक सीमा तक हीं इसका उपयोग करना चाहिए.
    2. अश्वगंधा के सेवन से Sex Power बढ़ती है. वीर्य की गुणवत्ता बढ़ती है और वीर्य ज्यादा मात्रा में बनता है.
    3. जिन लोगों को हमेशा आलस्य महसूस होता रहता है, अश्वगंधा उनके लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसके सेवन से आलस्य खत्म हो जाता है.
    4. जो लोग सम्भोग के दौरान जल्दी थक जाते हैं, यह उनके लिए भी एक बहुत हीं प्रभावशाली औषधी है.
    1. ashwagandha Anti Aging दवा है, यह उम्र को नियंत्रित रखने में आपकी मदद करता है. जिससे व्यक्ति जल्दी बुढ़ा नहीं होता है. अर्थात इसके सेवन करने से समय से पहले बुढ़ापा नहीं आता है.
    2. यह मन को शांत करता है और और सहनशक्ति में वृद्धि करता है.
    3. यह हमारे शरीर की रोगों से लड़ने की क्षमता भी बढ़ाता है.
    4. यदि आपको अनिंद्रा की शिकायत है, तो अश्वगंधा आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा.
    5. ashwagandha के सेवन से गठिया का दर्द खत्म हो जाता है.
    6. ashwagandha ब्लडप्रेशर को नियन्त्रण में रखता है.
    7. इसे खाने से तनाव भी कम होता है.
    8. यह डायबीटीज में भी आपको काफी फायदा पहुंचाता है.
    9. अश्वगंधा पाचन तन्त्र के लिए भी बहुत अच्छा होता है.
    10. ashwagandha शरीर में आयरन को बढ़ा देता है. हर दिन तीन बार 1-1 gram सेवन करने से शरीर में खून की मात्रा बढ़ जाती है.
    11. इसे खाने से बालों का कालापन बढ़ जाता है.
    12. इससे महिलाओं की प्रजनन क्षमता बढ़ जाती है.
    13. जिन स्त्रियों की योनी से सफेद चिपचिपा पदार्थ निकलता है, उन्हें भी ashwagandha खाने से बहुत फायदा पहुंचाता है.
  1. टीबी में भी ashwagandha बहुत फायदा पहुंचाता है.
  2. ashwagandha याददाश्त में भी फायदा पहुंचाता है.

अश्वगंधा के अधिक प्रयोग के नुकसान

उनिंदापन :- ऐसा कई लोगों का अनुभव है कि ashwagandha का सेवन करने के बाद उन्हें हर समय नींद आती रहती है। हालांकि विशेषज्ञों का इस बाबत कहना है कि जो लोग लगातार ashwagandha का लंबे समय तक सेवन करते हैं उनको फिर इसका सेवन करने के बाद नींद नहीं आती। शुरूआत में अश्वगंधा का सेवन थोड़ा सा कष्ट देने वाला होता है। ऐसे में आपको चाहिए कि आप इसकी खुराक शुरूआत के कुछ दिनों में रात को सोने से पहले लें। या फिर ऐसे समय में लें जब आप दिन में कुछ देर सो सके।

पेट संबंधी समस्याएं :- ashwagandha की पत्ति‍यों का सेवन करने वाले लोगों को पेट संबंधी समस्याएं होने की आशंका भी बनी रहती हैं। दरअसल ashwagandha की पत्तियों का सेवन करने से गैस बनने लगती है। अधिक मात्रा में ashwagandha के सेवन से दस्त और उल्टियां भी हो जाती हैं। इतना ही नहीं जिन लोगों को अल्सर की समस्या होती है उन्हें खाली पेट या फिर केवल अश्वगंधा का सेवन नुकसान पहुंचा सकता है।

loading...

दवाएं बेअसर :- यदि आप किसी गंभीर बीमारी से निजात पाने के लिए ashwagandha का सेवन कर रहे हैं तो क्या आप जानते हैं, कि आप पर अन्य दवाएं बेअसर हो सकती हैं। ऐसे में आपको अपने डॉक्टर से अन्य दवाओं के बारे में अच्छी तरह से बातचीत करके ही दवाओं का सेवन करना चाहिए।

शरीर के विपरीत रिएक्शन :- यदि आप सूजन कम करने, गठिया के रोग को दूर करने, आर्थराइटिस इत्यादि रोगों से लड़ने के लिए अश्वगंधा का प्रयोग कर रहे हैं तो आपको ऐसी स्थिति में अश्वगंधा का सेवन बंद कर देना चाहिए। दरअसल अश्वगंधा के नियमित सेवन से आपकी प्रतिरोधक क्षमता बहुत अधिक बढ़ जाती है जिससे शरीर के विपरीत काम करना शुरू कर देती है।

शारीरिक तापमान का बढ़ना :- ashwagandha का सेवन करने से कुछ लोगों का शारीरिक तापमान बढ़ जाता है नतीजा, बुखार तक पहुंच सकता है। यदि आपको ashwagandha के रोजाना सेवन से प्रतिदिन शरीर के तापमान में बढ़ोत्तरी दिखाई देती है तो आपको तुरंत इसका सेवन करना बंद कर देना चाहिए अन्यथा आपको इसके दुष्परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं और बुखार की स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।
इसके अलावा मधुमेह रोगियों, पाचन संबंधी बीमारियों से परेशान व्यक्ति, अल्सर पीडि़त व्यक्ति, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को अश्वगंधा के सेवन से बचना चाहिए। गर्भवती महिलाओं को इसीलिए भी मना किया जाता है ताकि उनके होने वाले बच्चे को कोई नुकसान ना हो। बहरहाल, आपको ashwagandha के सेवन और इस्तेमाल से पहले अपने चिकित्सक से सलाह-मशविरा जरूर करना चाहिए।

किन लोगों को अश्वगंधा के सेवन से बचना चाहिए ये भी जानना जरूरी है ।

जो लोग शुगर, गठिया, अर्थराइटिस आदि बीमारियों से बचने के लिए ashwagandha का इस्तेमाल करते हैं उन्हें भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए अल्सर के रोगी, गैस की समस्या वाले रोगी और गर्भवती महिलाओं को भी अश्वगंधा का सेवन करने से बचना चाहिए।

ashwagandha जितना शरीर के लिए लाभदायक है उतना ही इसके विपरीत गुण भी हैं जो आपको पता होने चाहिए ताकि आप इससे होने वाली गंभीर दिक्कतों से बच सके इसलिए अपने डॉक्टर की सलाह पर ही अश्वगंधा का इस्तेमाल करें।

Article Source :- http://suvicharhindi.com/http://www.onlymyhealth.com/

Loading...
loading...

Related posts